बिहार: युवाओं को रोजगार के लिए विशेष अवसर बेरोजगार सरकार, हर जिले में खोलेंगे मेगा ठहराव केंद्र

Rate this post


पटना। कोरोना संक्रमण के बाद लोगों के छिनते रोजगार और आगे बढ़ने को देखते हुए सरकार ने बिहार के युवाओं को रोजगार के क्षेत्र में आगे लाने के लिए विशेष पहल की है। राज्य सरकार के युवाओं का कौशल विकास और प्रशिक्षण देकर उन्हें स्वाबलंबी बनाने के लिए सरकार द्वारा सभी जाल में फंसाने का केंद्र स्थापित किए जाएंगे; जहां युवाओं को 90 प्रकार के ट्रेडों का प्रशिक्षण दिया जाएगा। शॉर्ट टर्म कोर्स के तहत छात्रों को कम से कम 300 घंटे और अधिकतम 1500 घंटे का प्रशिक्षण दिया जाएगा। इन केंद्रों का संचालन निजी प्राइवेट द्वारा किया जाएगा।

पहले चरण के तहत तीन जालों में मेगा डेलाइट सेंटर, जिनमें से पान, नालंदा और दरभंगा शामिल हैं। दूसरे चरण के तहत अन्य जेनेटाइल में सेंटर साइट पर क्लिक करें। बता दें कि सरकार द्वारा पेश किए गए वित्तीय बजट 2022-23 में भी इसका प्रावधान किया गया था। आवासीय क्षेत्र खोलने की घोषणा से दावों को काफी हद तक रोजगार प्राप्त करने में लगाया जाता है। रतनजोत केंद्र में विभिन्न प्रकार के तकनीकी प्रशिक्षण के माध्यम से युवाओं को कमाऊ के लिए दक्ष बनाया जाएगा।

श्रम संसाधन विभाग द्वारा प्रत्येक जिले में मेगा कार्यक्षेत्र खोलने की योजना है। इन पहली पर हर साल दो हजार से हजार बच्चों को प्रशिक्षित किया जाएगा। इन सेंटर्स पर एग्रीकल्चर, धुलाई और एविएशन, कृषि, आवास, कैपिटल गुड्स, निर्माण, इलेक्ट्रॉनिक्स व छत, रसोई वर्क्स, हैंडीक्रॉफ्ट्स, शाम, लोहा और स्टील, माइनिंग, पावर, रबर, टेलकम, टेक्सटाइल्स से जुड़े 90 प्रकार के रोजगार के लिए पाठ्यक्रम उपलब्ध होंगे।

आपके शहर से (पटना)

टैग: बिहार सरकार, बिहार के समाचार, रोज़गार, सरकारी नौकरी, सरकारी नौकरियों, नीतीश सरकार, बेरोजगारी

Updated: 02/12/2022 — 07:44
Rojgar Samachar © 2021

 सरकारी रिजल्ट

Frontier Theme