पीएम मोदी ने आज स्वीडिश समकक्ष स्टीफन लोफवेन के साथ द्विपक्षीय मुद्दों पर आभासी शिखर बैठक की

पीएम मोदी 5 मार्च, 2021 को स्वीडन के प्रधान मंत्री स्टीफन लोफवेन के साथ एक आभासी शिखर सम्मेलन करेंगे। दोनों नेता वैश्विक और क्षेत्रीय मुद्दों पर विचारों का आदान-प्रदान करेंगे और दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय संबंधों पर चर्चा करेंगे।

विदेश मंत्रालय के एक बयान के अनुसार, 2015 के बाद से दोनों नेताओं के बीच यह 5 वीं बातचीत होगी। प्रधान मंत्री मोदी ने अप्रैल 2018 में प्रथम भारत नॉर्डिक शिखर सम्मेलन के लिए स्टॉकहोम का दौरा किया था। स्वीडन के प्रधानमंत्री ने भारत का दौरा किया था। फरवरी 2016 में विशेष मेक इन इंडिया सप्ताह।

मंत्रालय ने आगे उल्लेख किया कि सितंबर 2015 में, भारत और स्वीडन के नेताओं ने संयुक्त राष्ट्र महासभा के मौके पर मुलाकात की थी। अप्रैल 2020 में, उन्होंने COVID-19 महामारी की स्थिति पर चर्चा करने के लिए एक टेलीफोन पर बातचीत की।

भारत-स्वीडन के बीच संबंध:

स्वतंत्रता, लोकतंत्र, नियमों पर आधारित अंतरराष्ट्रीय व्यवस्था और बहुलवाद के साझा मूल्यों के आधार पर दोनों देशों के मधुर और मैत्रीपूर्ण संबंध हैं।

भारत और स्वीडन भी नवाचार, व्यापार, और निवेश, अनुसंधान और विकास, और विज्ञान और प्रौद्योगिकी के क्षेत्रों में घनिष्ठ सहयोग करते हैं।

ऑटो उद्योग, स्वास्थ्य, और जीवन विज्ञान, रक्षा, स्वच्छ प्रौद्योगिकी, भारी मशीनरी और उपकरण जैसे विभिन्न क्षेत्रों में लगभग 250 स्वीडिश कंपनियां भारत में सक्रिय रूप से काम कर रही हैं। स्वीडन में लगभग 75 भारतीय कंपनियां सक्रिय हैं।

//platform.twitter.com/widgets.js !function(f,b,e,v,n,t,s){if(f.fbq)return;n=f.fbq=function(){n.callMethod?n.callMethod.apply(n,arguments):n.queue.push(arguments)};if(!f._fbq)f._fbq=n;n.push=n;n.loaded=!0;n.version=’2.0′;n.queue=[];t=b.createElement(e);t.async=!0;t.src=v;s=b.getElementsByTagName(e)[0];s.parentNode.insertBefore(t,s)}(window,document,’script’,’//connect.facebook.net/en_US/fbevents.js’); fbq(‘init’, ‘570864263071190’); fbq(‘track’, “PageView”);

Rojgar Samachar © 2021

 सरकारी रिजल्ट

Frontier Theme